*आत्महत्या की सूचना देने के बाद चार घंटे बाद पहुंची भटनी थाने की पुलिस, परिजन का रो रो कर हुआ बुरा हाल ** *रिपोर्ट – अवनीश शंकर राय*

0
148

खबर-1

 

**आत्महत्या की सूचना देने के बाद चार घंटे बाद पहुंची भटनी थाने की पुलिस, परिजन का रो रो कर हुआ बुरा हाल **
*रिपोर्ट – अवनीश शंकर राय*
देवरिया। भटनी थाना के अन्तर्गत ग्राम परसौनी में आज सुबह एक नाबालिक लड़की की फांसी लगा कर आत्महत्या करने से पूरे गांव में सनसनी फ़ैल गया।
मामला भटनी थाने के परसौनी गांव का है, जहां परसौनी गांव के शहनाज़ अंसारी की नाबालिक पुत्री शबाना खातून उम्र क़रीब15वर्ष जो आज सुबह अचानक अन्दर से दरवाजा बंद करके फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली । जिसकी सूचना पा कर पूरे गांव में सुबह से ही कोहराम मचा हुआ है।मृतक के पिता शहनशाह अंसारी दिल्ली में रह के सिलाई का काम करते है। और किसी तरह से अपने घर का भरण पोषण करते हैं ।घर पर उनकी पत्नी शकीना के अलावा एक और पुत्री नजराना उम्र9 वर्ष है।आज सुबह जब शहनशाह अंसारी की पत्नी शौच कर जब अपने घर आयीं तो घर का एक कमरा अन्दर से बन्द था। जिसमे लोहे की फाटक लगी थी।जब उनकी पत्नी दरवाजा खटखटाया तो अंदर से कोई आवाज़ नही आयी तो किसी तरह झांक कर देखा तो उनके होश उड़ गये।अन्दर उनकी बड़ी लड़की का शव पंखे से लटका मिला।तो उनके शोर शराबे से आस पास के लोग जुट गये इस नजारे से पूरे ग्राम परसौनी में कोहराम मच गया।मामले की सूचना तत्काल ग्रामीणों ने भटनी थाने को दे दी।
हैरत की बात है कि भटनी थाना प्रभारी अपनी पुलिस टीम के साथ घटना स्थल पर करीब 12बज के 15 मिनट पे क़रीब चार घंटे देर से पहुचे जब कि थाना भटनी से परसौनी ग्राम सभा की दूरी लगभग चार किलोमीटर ही है।भटनी थाना प्रभारी द्वारा पूछ ताछ के दौरान लड़की की माँ शकीना खातून ने लिखित रूप से यह बयान दिया कि हमारी लड़की की दिमागी हालात ठीक नहीं थी । वो मानसिक विछिप्त थी ।जिसका दवा भी काफी दिनों से चल रहा था। घटना स्थल पर मौजुद लोगों को और साथ में मैजुद पत्रकार बंधुओ को थाना भटनी द्वारा वहाँ से हटा दिया गया और अन्दर से दरवाजा बंद कर के पंखे से लटके शव को उतारा गया।
आपको बता दें कि इस दौरान पुलिस ने लोहे के दरवाजे को बहुत कोशिश की गई परन्तु दरवाजा नही खुला इस स्थित में गांव के एक व्यक्ति को पुलिस ने रोशनदान के रास्ते रुम के अंदर भेजकर दरवाजा खोलवया और लाश को उतारकर अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए देवरिया भेज दिया, और आत्महत्या की गुत्थी सुलझाने में जुट गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here