*उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव गमछा टोपी नहीं ,इस बार मास्क बनेगा प्रचार का हथियार*

0
46

*उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव गमछा टोपी नहीं ,इस बार मास्क बनेगा प्रचार का हथियार*

*गोरखपुर*/उत्तर प्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय ग्राम पंचायत चुनाव में प्रधान पद के दावेदारों ने इस बार चुनाव प्रचार का नया तरीका इंतजाम किया है। उन्होंने अपनी राजनीति में कोरोना प्रोटोकॉल भी जोड़ दिया है। इस बार गवई नेता टोपी, गमछा को कम और मास्क के जरिए प्रचार प्रसार की तैयारी में जुट गए हैं। भावी प्रत्याशी मास्क के जरिए अपने नाम को मतदाताओं के मुंह पर चिपकाएंगे। एक ओर जहां प्रत्याशी निशुल्क मास्क बांटकर महामारी से बचाव के लिए चल रही लड़ाई में शामिल होंगे। वहीं दूसरी तरफ प्रधानी चुनाव का प्रचार भी हो जाएगा।
15 मार्च से 7 अप्रैल के बीच संभावित ग्राम पंचायत चुनाव को देखते हुए प्रधान पद के भावी प्रत्याशियों ने अब कमर कस ली है। आधा दर्जन से अधिक प्रत्याशियों ने मांस के पर अपने प्रधान पद की प्रचार सामग्री छपवाने के लिए आर्डर दे दिए हैं। किसी ने 10हजार तो किसी ने 15 हजार मास्क की छपाई के लिए आर्डर दिया है। बड़हलगंज क्षेत्र के एक गांव से प्रधान पद के दावेदार ने बताया कि उन्होंने 10हजार मास्क पर कोरोना से बचाव के लिए सामग्री के साथ खुद के पक्ष में मतदान करने की सामग्री छपवाने के लिए आर्डर दे दिए हैं। इससे पैसे का दुरुपयोग तो होगा ही साथ ही कोरोना वायरस के प्रति लोग जागरूक भी होंगे। वहीं एक अन्य गांव के प्रधान पद के भावी प्रत्याशी ने 20 हजार मास्क पर प्रचार और कोरोना वायरस से लोगों को जागरूक करने के लिए सामग्री छपवाने का आर्डर दिया है।
*बॉक्स में29,99 लाख वोटर चुनेंगे गवई सरकार*
आगामी 15 मार्च से 7 अप्रैल के बीच होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में 29,99 लाख वोटर अपनी गवई सरकार चुनेंगे। गोरखपुर निर्वाचन विभाग ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर अनतिम सूची जारी कर दी है। अभी अंतिम सूची जारी होने बाकी हैं।
अंतिम सूची का प्रकाशन 22 जनवरी 2021 को होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here