*क्या इस युवती तथा परिवार को कभी न्याय मिल पायेगा*

0
133

*मनीषा के पांचो हत्यारों क़ो तत्काल फाँसी दो*

*किस वजह से अभी पुलिस के गिरफ्त से दूर है अपराधी*

*किसके इशारे पर अपराधियों को बचा रही है हाथरस पुलिस*

*इसका अन्दाजा हैं कि हाथरस की पुलिस प्रशासन हो गयी है निष्क्रिय*

*अगर चौबीस घंटे के अन्दर गिरफ्तारी नहीं हुई तो पुरे हाथरस पुलिस प्रशासन को तत्काल इस्तीफा दे कि हम पुलिस की नौकरी करने में असमर्थ हैं*

*उत्तरप्रदेश* के हाथरस के थाना चंदपा के अंतर्गत, बुलगढ़ी गाँव जहाँ एक 21 वर्षीय युवती मनीषा के साथ गाँव के दबंग 5 लोगों ने खेत में घास काटने गयी युवती को घेरकर बलात्कार करने के उपरांत युवती की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी। दरिंदगी और इंसानियत की हदें पार करते हुए उक्त लोगों में से मुख्य अभियुक्त ने युवती की जुबान (जीभ) अपने दाँतों से काटने का प्रयास किया जिससे युवती कुछ बोल भी ना पायी।

पीड़ीता के साथ इतनी भीभत्स घटना को अंजाम देने के बाद उन्हीं अपराधियों में से एक ने पीड़िता के भाई से कहा कि तेरी बहन खेत में मरी पड़ी है उसे उठा ला, जब परिजन पहुंचे तो यवती निर्वस्त्र खेत में पड़ी थी,तब उसकी भाभी और माँ ने उसको वस्त्र पहनाये।

ये घटना 14 सितंबर,2020 की है लेकिन अभीतक एक भी अपराधी को पुलिस पकड़ नहीं पाई है,जबकि पीड़ित परिवार का कहना है कि पुलिस सुबह उक्त लोगों को पकड़कर ले जाती है लेकिन शाम को जीप से छोड़ जाती है। पीड़ित लड़की अस्पताल में जिंदगी से जंग लड़ते लड़ते आज आखिरी सांस ली और इस दूषित समाज को हमेशा के लिये छोड़ दिया।

क्या इस युवती तथा परिवार को कभी न्याय मिल पायेगा? एक तरफ नशेड़ियों, गंजेड़ीयों को वाई प्लस सिक्युरिटी मिल जाती है दूसरी तरफ गरीबों को उचित सुरक्षा व जरूरी न्याय तक नहीं मिल पाता है। बलात्कारियों के हौसला कितने बुलन्द हैं यह चिन्मयानंद के समय भी देखे गए आज इस युवती के लिये भी देख लो तथा हर रोज देश के हर कोने जो हो रहा उसको देख लीजिए।

*राजन पाण्डेय (पत्रकार)*
*जिला प्रवक्ता परशुराम सेना प्रकोष्ठ गोरखपुर*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here