*गोरखपुर के एसएसपी पर हाईकोर्ट ने लगाया जुर्माना, जानिए क्‍या है मामला*

0
75

*गोरखपुर के एसएसपी पर हाईकोर्ट ने लगाया जुर्माना, जानिए क्‍या है मामला*

अपहरण के एक मामले में हाईकोर्ट में गलतबयानी करने पर अदालत ने एसएसपी गोरखपुर पर दो हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। अदालत के इस आदेश से पुलिस महानिदेशक को भी अवगत कराने को कहा है। 17 नवम्बर को अदालत में इस मामले में अगली सुनवाई होगी।

एसएसपी पर जुर्माना चिलुआताल थानाक्षेत्र के हमीरपुर निवासी शंकर उर्फ गिरिजा शंकर की याचिका पर सुनवाई के बाद लगाया गया है। शंकर ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी कि 12 अक्तूबर 2018 को उसके बेटे सुनील का अपहरण कर लिया गया। पुलिस को तहरीर दी मगर कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद शंकर ने स्थानीय अदालत में वाद दाखिल किया। अदालत के आदेश पर पुलिस ने अपहरण व धमकी देने का मामला दर्ज तो कर लिया मगर कोई कार्रवाई नहीं की। विवेचक को शंकर ने बेटे सुनील का फोटो भी उपलब्ध कराया। उनका बेटा नहीं मिला। अलबत्ता विपक्षी उसे सुलह के लिए धमकाने लगे। आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। पुलिस उसे मानसिक रूप से बीमार बताती रही।

स्थानीय पुलिस से मदद न मिलने पर शंकर ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की। शंकर के गोरखपुर के अधिवक्ता राजकुमार श्रीवास्तव ने बताया कि हाईकोर्ट में मामले की पहली सुनवाई में पहुंचे विवेचक ने बताया था कि याची का अपहृत बेटा मानसिक रूप से बीमार है और याची ने उसका फोटो भी नहीं उपलब्ध कराया जिससे तलाश करने में देर हो रही है। इस पर हाईकोर्ट ने एसएसपी को इस मामले में शपथ पत्र देकर कार्रवाई की प्रगति बताने को कहा था। अगली सुनवाई में एसएसपी की ओर से शपथ पत्र भी दाखिल नहीं किया गया। इस पर न्यायधीशों ने नाराजगी जताते हुए कहा कि दो साल बाद भी पुलिस फोटो का इंतजार कर रही है जो कि गैर जिम्मेदाराना है। इसके साथ ही अदालत ने एसएसपी गोरखपुर के वेतन से 2000 रुपये जुर्माना अदालत में जमा करने का आदेश दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here