*गोरखपुर जिला कारागार में पेड़ से लटकता मिला दहेज हत्या में बंद युवक का शव*

0
102

गोरखपुर जिला कारागार में पेड़ से लटकता मिला दहेज हत्या में बंद युवक का शव

गोरखपुर ,शाहपुर के बिछिया स्थित जिला जेल में मंगलवार की रात करीब सात बजे दहेज हत्या के आरोपी बंदी इब्राहिम (22) का शव पीपल के पेड़ से लटकता मिला। वह शाम छह बजे होने वाली बंदियों की गणना के समय से लापता था। जेल प्रशासन उसकी तलाश कर रहा था। तलाशी के दौरान गेट नंबर तीन के बाहर 30 फीट ऊंचे पीपल के पेड़ की डाल से उसका शव लटकता मिला।

सूचना पर वरिष्ठ जेल अधीक्षक डॉ. रामधनी, जेलर प्रेम सागर शुक्ला, एडीएम एफआर, सिटी मजिस्ट्रेट शाहपुर, गुलरिहा तथा चिलुआताल पुलिस के साथ जेल पहुंचे। रात करीब दस बजे सीढ़ी व रस्सी के सहारे चढ़ कर पुलिस ने शव को पेड़ से नीचे उतारा और एंबुलेंस से पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

जानकारी के मुताबिक, गोला इलाके के उदईपुर निवासी इब्राहिम की पत्नी की 2020 में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। पत्नी के मायके वालों ने इब्राहिम, उसके पिता अमीन व माता के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज कराया था। जिसके बाद पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इब्राहिम बैरक नंबर एक में और पिता बैरक नंबर पांच में बंद था। वहीं मां राबिया महिला बैरक में बंद थी।

मंगलवार की शाम करीब 6:30 बजे जब बंदियों की गणना हो रही थी तब इब्राहिम लापता था। जेलकर्मी उसकी तलाश कर रहे थे। इस दौरान जेलकर्मियों ने टार्च की रोशनी में पीपल के पेड़ की 30 फीट ऊंची डाल पर उसे लुंगी के फंदे से लटका पाया गया। जेल सूत्रों के अनुसार वह शाम को ही छुपकर पेड़ पर चढ़ कर बैठ गया था और अंधेरा होने पर फंदा लगाकर लटक कर जान दे दी। मौत के बाद महिला बैरक से उसकी मां और पिता को भी बुलाया गया। दोनों दहाड़े मार कर रोने लगे। जेल व प्रशासनिक अधिकारी खामोश है की उसने खुदकुशी क्यों की।

जेल सूत्रों के अनुसार दो वर्ष पहले इब्राहिम ने हरपुर बुदहट के लटकाना निवासी रजिया खातून (20) से प्रेम विवाह किया था। चार मार्च 2020 को पत्नी रजिया खातून का शव फंदे से लटका मिला था। इब्राहिम का कहना था कि उसने खुदकुशी की थी। लेकिन रजिया के पिता ने दहेज हत्या का आरोप लगाया था।

जिसमे गोला पुलिस ने पांच मार्च 2020 को इब्राहिम, उसके भाई इजहारुल, पिता अमीन व मां राबिया के खिलाफ केस दर्ज किया था। पुलिस ने सभी को आठ मार्च 2020 को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। जेल सूत्रों के अनुसार तभी से वह अवसाद में गुमसुम रहता था। शाम को पेड़ पर चढ़ते हुए कुछ बंदियों ने देखा था। उसके कंधे पर लुंगी भी थी। लेकिन तत्काल यह बात बंदियों ने जेलकर्मियों से नहीं बताई। गणना में एक बंदी कम मिला तो तलाश शुरू हुई, तब पता चला कि इब्राहिम लापता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here