*गोरखपुर:* *सगी मां ने ही 10 हजार ₹ में कर दिया दो महीने के बेटे का सौदा* *बिचौलिए और खरीददार समेत हुई गिरफ्तार* 

0
168

*गोरखपुर:*

*सगी मां ने ही 10 हजार ₹ में कर दिया दो महीने के बेटे का सौदा*

*बिचौलिए और खरीददार समेत हुई गिरफ्तार*

गोरखपुर के गीडा थाना क्षेत्र के बेलदारी टोला से दुधमुंहे बच्चे के गायब होने के सनसनीखेज मामले का पुलिस ने सोमवार को खुलासा कर लिया। पुलिस ने बच्चे को बरामद कर उसकी मां और उसे 10 हजार रुपये में खरीदने वाली महिला तथा बिचौलिए को गिरफ्तार कर लिया है। महिला ने बिचौलिए के माध्यम से खुद अपनी मर्जी से बेटे को बेच दिया था।
नौसढ़ बेलदारी टोले में रहने वाले जयसिंह के घर 28 नवम्बर की भोर में कोहराम मच गया। जयसिंह और उनकी पत्नी शिमला देवी दहाड़े मारकर रो रही थी। उनके रोने की आवाज सुनकर आस-पास के लोगों की नींद खुल गई। कुछ ही देर में जयसिंह के दरवाजे पर भारी भीड़ जुट गई। दम्पति का कहना था कि उनका मासूम बेटा लापता हो गया है। सूचना पुलिस तक पहुंची तो थानेदार सुनील राय दल-बल के साथ पहुंच गए और उन्होंने बच्चे की तलाश शुरू कर दी। थानेदार ने जय सिंह के पड़ोस के ही एक मकान में लगे सीसी कैमरे की फुटेज देखी तो उनके होश उड़ गए। जय सिंह की पत्नी शिमला एक अन्य महिला के पीछे-पीछे जाती दिखी। पुलिस ने मासूम की मां शिमला देवी को हिरासत में ले लिया और सख्ती से पूछताछ की। पुलिस की सख्ती के आगे वह टूट गई और पूरा मामला खुल गया। शिमला ने स्वीकार लिया कि उसने शंभु सिंह के कहने पर 10 हजार रुपये में बच्चे को एक महिला को बेच दिया है।
शिमला की सूचना पर पुलिस ने की कार्रवाई
शिमला के बताने पर पुलिस ने गोरखनाथ थाना क्षेत्र के सूर्य बिहार कालोनी निवासी शंभू सिंह को हिरासत में लेन लिया। शंभु सिंह ने बताया कि बच्चा देवरिया जिले के रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र स्थित विशुनपुर कला निवासी रम्भा देवी पत्नी नौमी प्रसाद के पास है। रम्भा देवी बच्चे को लेकर शाम 4 बजे जिला अस्पताल पर पहुंच रही है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बच्चे को बरामद कर लिया और रम्भा को भी हिरासत में ले लिया।
*बच्चे को बेचने की कहानी, इंस्पेक्टर की जुबानी*
प्रभारी निरीक्षक गीडा सुनील कुमार राय ने बताया कि शिमला ने ही पालन-पोषण करने में असमर्थ होने के कारण बच्चे को दूसरी महिला को दे दिया था। बदले में उसने रम्भा से 10 हजार रुपये लिए थे।

*जय सिंह के बगल में है शंभु की ससुराल*
पीड़ित जय सिंह के बगल में ही बिचौलिए की भूमिका वाले शम्भु सिंह की ससुराल है। शंभु सिंह सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है। मासूम की मां से मिलकर रम्भा देवी को बच्चा उसने दिलावा था।
इनकी सक्रियता से हुई बरामदगी्र
अभियुक्तों को पकड़ने और बच्चे को बरामद करने में इंस्पेक्टर सुनील कुमार राय, नौसढ़ चौकी प्रभारी दीपक सिंह, सिपाही अभिनंदन गुप्ता, मीनू राय शामिल रही।

*मासूम के लापता होने का यह है घटनाक्रम*
गीडा थाना क्षेत्र के नौसढ़, बेलदारी टोला में परिवार के साथ रहने वाले जय सिंह और उनकी पत्नी शिमला देवी के पास शुक्रवार की रात में सो रहा उनका मासूम बेटा संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हो गया। दुधमुंहे बेटे के गायब होनेे की जानकारी जयसिंह ओर शिमला को शनिवार की भोर में तब हुई जब वे नींद से जागे। दम्पति ने बेटे की काफी तलाश की लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। उन्होंने आस-पास रहने वाले परिवारों से भी पूछताछ की लेकिन किसी ने कोई जानकारी नहीं दी। घबराए दम्पति ने इस मामले की जानकारी गीडा थाने की पुलिस को दी। सूचना पाते ही गीडा थानेदार सुनील और नौसढ़ चौकी की पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने भी लोगों से पूछताछ की लेकिन कोई जानकारी नहीं मिली। पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज कर मासूम की तलाश शुरू कर दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here