*जलवायु परिवर्तन ने खिसका दिया पृथ्वी का धुरी*

0
82

*जलवायु परिवर्तन ने खिसका दिया पृथ्वी का धुरी*

पृथ्वी के उत्तरी और दक्षिण ध्रुव हमेशा ही स्थिर नहीं रहते हैं. पृथ्वी एक काल्पनिक रेखा पर घूमती है जिसे पृथ्वी की धुरी या अक्ष कहा जाता है. वैज्ञानिक बताते हैं कि इस धुरी के स्थायी न होने के पीछे बहुत से कारण हैं. सभी प्रक्रियाएं तो वैज्ञानिक नहीं समझ सके हैं, लेकिन उन्हें लगता है कि पृथ्वी की सतह पर जलवायु परिवर्तन के कारण ग्लेशियर पिघलने से पृथ्वी की धुरी खिसक गई है.

वैज्ञानिकों का कहना है कि यह बदलाव 1990 के स्थिति की तुलना में आया है. जलवायु परिवर्तन के कारण पिघलते ग्लेशियर पानी के वितरण में इतना बदलाव कर रहे हैं जिससे ध्रुव 1990 के दशक की स्थिति की तुलना में पूर्व की दिशा में खिसक रहे हैं. जियोफिजिकल रिसर्च लैटर्स में प्रकाशित इस अध्ययन के लेखक और यूनिवर्सिटी ऑफ चाइनीज एकेडमी ऑफ साइंसेस के इंस्टीट्यूटट ऑफ जियोग्राफिक सांसेस एंड नेचुरल रिसोर्सेस के शोधकर्ता शानशैन डेंग का कहना है कि ग्लोबल वार्मिंग के कारण तेजी से पिघलती बर्फ ही ध्रवों की दिशा को खिसकाने के लिए जिम्मेदार है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here