*जिलाधिकारी ने जनपद में अवैध मदिरा के निर्माण व अवैध विक्री के अड्डों पर पर प्रभावी नियंत्रण लगाने हेतु गठित की टीमें,*

0
33

जिलाधिकारी ने जनपद में अवैध मदिरा के निर्माण व अवैध विक्री के अड्डों पर पर प्रभावी नियंत्रण लगाने हेतु गठित की टीमें,
———————
अवैध अड्डों से विकने वाली मदिरा का न करें सेवन क्योंकि अवैध अड्डों से मिलने वाली मदिरा हो सकती है जहरीली-जिलाधिकारी
———————
जिलाधिकारी ने अवैध मदिरा के विक्री में संलिप्त माफियाओं के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कर गिरफ्तारी की कार्यवाही करने के दिये निर्देश
——————-
प्रतापगढ़ 17 मार्च 2021। जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव व होली के त्योहार के दृष्टिगत सघन अभियान चलाकर व्यापक जांच और छापेमारी का आयोजन कर मद्य निष्कर्षण/अवैध व अपमिश्रित मदिरा के निर्माण एवं विक्री के अड्डों को समाप्त करते हुये समस्त ठेकों की जांच एवं अवैध मदिरा के विक्री पर रोक लगाने हेतु टीमें गठित की है। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया है कि समस्त उपजिलाधिकारियों, क्षेत्राधिकारियों, तहसीलदारों, आबकारी निरीक्षकों एवं सम्बन्धित थाने के पुलिस बल की संयुक्त टीमें क्षेत्र से सम्बन्धित शराब की दुकानों और उसके समीप स्थित परचून आदि की दुकानों पर सघन निरीक्षण करते हुये यह सुनिश्चित किया जाये कि किसी भी प्रकार का अवैध शराब का निर्माण/क्रय/विक्रय तो नही किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन/ होली त्योहार के मद्देनजर मदिरा की खपत में वृद्धि होने के दृष्टिगत मदिरा का अवैध निर्माण, संग्रह, अवैध विक्री तथा तस्करी में असामाजिक तत्व के सक्रिय होने की सम्भावना से इन्कार नही किया जा सकता, इस प्रकार की गतिविधियों से जहां एक ओर आबकारी राजस्व की हानि होती है वहीं दूसरी ओर इस बात की सम्भावना से इन्कार नही किया जा सकता कि रंजिशन या सस्ती मदिरा के प्रलोभन के तौर पर ऐसी विषाक्त मदिरा का प्रचलन हो जाये जिससे जनहानि हो। इस निमित्त विशेष रूप से सजग एवं सतर्क रहने की आवश्यकता है और मदिरा के अवैध निर्माण, संग्रह, अवैध विक्री तस्करी के विरूद्ध प्रशासन/पुलिस एवं आबकारी विभाग की संयुक्त टीम द्वारा प्रभावशाली ढंग से विशेष प्रवर्तन अभियान चलाया जाये तथा इस अभियान के दौरान जो कार्यवाही जाये उसकी सूचना भी उपलब्ध करायी जाये।
उन्होने गठित टीमों को निर्देशित किया है कि मद्य निष्कर्षण/अवैध व अपमिश्रित मदिरा के निर्माण एवं विक्री के अड्डों को समाप्त करते हुये समस्त ठेकों की जांच व अन्वीक्षण कर अवैध मद्य निष्कर्षण एवं विक्री पर प्रभावी अंकुश लगाया जाये। उन्होने कहा है कि अभियान के दौरान देशी एवं विदेशी मदिरा की अनुज्ञापित दुकानों व थोक एवं अनुज्ञापनों की भी रैंडम आधार पर जांच कर देखा जाये कि इन दुकानों के माध्यम से अवैध अथवा बिना क्यू0आर0 कोड के मदिरा की विक्री नही की जा रही है। अभियान के दौरान राष्ट्रीय/राज्य राजमार्गो पर स्थित संदिग्ध ढाबो/स्थानों, जहां रेक्टीफाइड स्प्रिट व मिथाइल अल्कोहल के टैंकर प्रायः रूकते है इनकी भी जांच की जाये कि इन स्थानों पर मिथाइल एल्कोहल आदि की विक्री तो नही की जा रही है। जिलाधिकारी ने कहा है कि चिन्हित संदिग्ध ग्रामों/स्थानों/व्यक्तियों तथा अवैध मदिरा के कार्य में संलिप्त माफियाओ की सूची थानावार तैयार कराकर उनके विरूद्ध आईपीसी की सुसंगत धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।
जिलाधिकारी ने कहा है कि अवैध अड्डों से बिकने वाली अवैध मदिरा का सेवन कदापि न करें क्योंकि अवैध अड्डों से मिलने वाली मदिरा जहरीली हो सकती है तथा मिथाइल एल्कोहल भी हो सकता है जो एक विष है तथा इसके अल्प मात्रा के सेवन से आंखों की रोशनी जाने के साथ ही व्यक्ति की मृत्यु हो सकती है, यदि किसी को अवैध मदिरा की विक्री की सूचना प्राप्त होती है तो तत्काल उसके सम्बन्ध में सूचना उपलब्ध करायें। जिलाधिकारी ने कहा कि समस्त उपजिलाधिकारी एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी तथा तहसील से सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारियों से समन्वय कर तहसील क्षेत्रान्तर्गत लेखपाल, ग्राम पंचायत/ग्राम विकास अधिकारी, चौकीदार, आशा, ए0एन0एम0, आंगनबाड़ी कार्यकत्री के माध्यम से सूचना प्राप्त करें और उन्हें यह भी निर्देशित कर दें कि ग्रामों अवैध मद्य निष्कर्षण एवं विक्री तथा निर्माण सम्बन्धित गतिविधियों पर विशेष चौकसी बरतते हुये सतर्क दृष्टि रखना सुनिश्चित करें। समस्त उपजिलाधिकारी अपने क्षेत्र के थानावार, संवेदनशील तथा अतिसंवेदनशील स्थलों पर थाना प्रभारियों/उपनिरीक्षक/पुलिस व आबकारी विभाग की बीट सिपाहियों के साथ तहसीलदार, नायब तहसीलदार, एडीओ, खण्ड शिक्षा अधिकारी, सीडीपीओ, राजस्व निरीक्षकों की ड्यिटी लगाते हुये सघन अभियान चलाकर जांच और छापेमारी कर अवैध मद्य निष्कर्षण एवं विक्री तथा निर्माण पर प्रभावी अंकुश लगाना सुनिश्चित करें। सघन चेकिन छापेमारी अभियान में किसी भी प्रकार अनियमितता, असहज की स्थिति पाये जाने पर सम्बन्धित दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध सुसंगत धाराओं में विधिक कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। उन्होने इस अभियान में लगाये गये समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया है कि दिये गये निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करेंगें इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही क्षम्य नही होगी।
———————
जिला सूचना कार्यालय प्रतापगढ़ द्वारा प्रसारित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here