*जौनपुर. उत्तर प्रदेश में कोरोना का संक्रमण फिलहाल तो थमता नजर नहीं आ रहा है. शुक्रवार सुबह को जौनपुर (Jaunpur) जिले में कोरोना संक्रमित डीआईओएस (DIOS) प्रवीण मणि त्रिपाठी (48) का निधन हो गया*

0
39

जौनपुर. उत्तर प्रदेश में कोरोना का संक्रमण फिलहाल तो थमता नजर नहीं आ रहा है. शुक्रवार सुबह को जौनपुर (Jaunpur) जिले में कोरोना संक्रमित डीआईओएस (DIOS) प्रवीण मणि त्रिपाठी (48) का निधन हो गया. वे पिछले एक माह से कोरोना से संक्रमित थे. फिलहाल वाराणसी के एपेक्स अस्पताल में इलाज चल रहा था. जौनपुर के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. राकेश कुमार ने पुष्टि की. बताया जाता है कि कोरोना के कारण लंग्स पर गंभीर असर हुआ था.
गोरखपुर के मूल निवासी प्रवीण मणि त्रिपाठी इसके पहले राज्य मुख्यालय लखनऊ में 3 वर्ष से अधिक तक बेसिक शिक्षा अधिकारी के रूप में काम कर चुके हैं. कानपुर देहात से प्रमोशन पाकर जौनपुर जनपद में डीआईओएस के रूप में एक फरवरी 2020 को नियुक्त हुए थे. त्रिपाठी ने शासन के निर्देशों पर अमल करते हुए यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा को नकल विहीन तरीके से बड़े ही गंभीरता के साथ संपन्न कराया था.
पिछले 23 सितंबर को वह कार्यालय में ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए. हल्का बुखार और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद आनन-फानन में डीआईओएस को वाराणसी में भर्ती कराया गया जहां उनकी तबीयत में काफी सुधार हो गया था. जौनपुर में 9 महीने के कार्यकाल के दौरान उन्होंने प्रदेश स्तर पर हुए अनामिका शुक्ला फर्जी शिक्षकों के नेटवर्क से जुड़े जालसाज शिक्षकों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए मुकदमा भी दर्ज करवाया था. त्रिपाठी के पीछे पत्नी, एक बेटी और एक बेटा है. बता दें कि जिला विद्यालय निरीक्षक प्रवीण मणि त्रिपाठी शुरू से मेधावी रहे. उन्होंने 5 बार पीसीएस की परीक्षा क्वालीफाई की थी. 3 वर्ष तक डिप्टी एसपी के रूप में काम भी किया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here