*निगरानी समितियों को पुनः किया जाए क्रियाशील -डीएम* *बाहर से आने वाले हर व्यक्तियों की निगरानी समितियां करे निगरानी- एसएसपी*

0
10

*निगरानी समितियों को पुनः किया जाए क्रियाशील -डीएम*

 

 

*बाहर से आने वाले हर व्यक्तियों की निगरानी समितियां करे निगरानी- एसएसपी*

 

गोरखपुर। जिलाधिकारी सभागार में त्रिस्तरीय पंचायती चुनाव के दौरान कोरोना के दूसरी लहर को बढ़ते हुये देख जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन हुई सतर्क आने वाले हर व्यक्तियों पर रखी जाए निगरानी समितियों द्वारा निगरानी। अन्य प्रदेशों में रह रहे मजदूरो को चुनाव के दौरान घर आने की संभावना सत प्रतिशत रहती है दिल्ली मुंबई सहित अन्य प्रदेशों में कोरोना मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है वहां से आने वाला पंचायती चुनाव में भाग लेने वाला व्यक्ति कोरोना संक्रमित भी हो सकता है इसलिए बाहर से आने वाले हर व्यक्तियों का निगरानी समितियां निगरानी करें जिससे कोरोनावायरस फैलने से रोका जा सके ।डीएम के विजयेंद्र पांडियन ने बताया कि जनपद में अन्य प्रदेेशों से प्रवासी व्यक्तियों के संबंध में शासन से निर्देश दिए गए हैं। जिसके क्रम में प्रवासी व्यक्ति या मजदूर जो जनपद में आ रहे है उनका सम्यक ढंग से स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाये डीएम ने बताया कि अनेक ऐसे प्रवासी मजदूर व व्यक्ति हैं जो सीधे रोडवेज बस स्टेशन से आए हैं और उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराने के बाद आगे की कार्रवाई की जाए। स्वास्थ्य परीक्षण के दौरान जो संदिग्ध होंगे उनको सीएमओ द्वारा निर्धारित एसओपी के तहत कार्रवाई की जाए। उनके विषय में एडीएम वित्त एवं राजस्व सीएमओ के माध्यम से संबंधित प्रभारी चिकित्साधिकारी एवं एसडीएम को सूचित कर दें ताकि उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया जा सके। बिना किसी की अनुमति के जो लोग पधार रहे हैं उनके सर्विलांस के लिए जनपद में प्रत्येक राजस्व ग्रामों में निगरानी समितियां गठित थी उसे पुनः एक्टिव किया जाये । जो इस बात की दृष्टि रखेगी कि कोई भी व्यक्ति उस गांव में प्रवेश करे तो उसे गांव के बाहर विद्यालय आदि में रोक कर संबंधित एसडीएम व प्रभारी चिकित्साधिकारी को सूचित करें।

गठित निगरानी समिति में ग्राम प्रधान क्षेत्र पंचायत सदस्य सचिव लेखपाल आंगनवाड़ी आशा व चौकीदार के साथ-साथ गांव के पोस्ट ग्रेजुएट ग्रेजुएट अथवा इंटरमीडिएट उत्तीर्ण जागरूक व क्रियाशील नवयुवक व नवयुवतियों को भी सदस्य बनाया गया है। प्रत्येक राजस्व ग्राम में निगरानी समिति के सदस्यों की संख्या न्यूनतम 11 रखी गयी हैं। सभी क्षेत्रों में निगरानी समितियों के गठन की गई हैं उसे एक्टिवेट पुण्य किया जाए जिससे बाहर से आने वाले हर व्यक्तियों की निगरानी कर संबंधित अधिकारियों को सूचना दे सकें ग्रामीण क्षेत्रों में उनका सहयोग बीडीओ और एडीओ पंचायत करेंगे। नगरीय क्षेत्रों में अधिशाषी अधिकारी नगरपालिका व नगर पंचायतें इसके लिए उत्तरदायी होंगे। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने बताया कि पंचायती चुनाव के दौरान बाहर रहने वाले लगभग हर व्यक्ति अपने ग्राम के ग्राम प्रधान को निर्वाचित करने के लिए अपने मताधिकार का प्रयोग करने हेतु आता है जिसका स्वास्थ्य परीक्षण करवाना अति आवश्यक है क्यों की पंचायती चुनाव में लगभग 90 से 95% तक वोट पोलिंग होते हैं उसको ध्यान में रखते हुए आने वाले हर व्यक्तियों को निगरानी समिति द्वारा निगरानी करते हुए स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाए जिससे कोविड-19 को फैलने से रोका जा सके बैठक के दौरान जिलाधिकारी के लिए निपानिया ना वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी पुलिस अधीक्षक अपराध नोडल अधिकारी कोविड-19 डॉ महेंद्र पाल सिंह सीएमओ डॉ सुधाकर पांडे सहित अन्य संबंधित द अधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here