*नोएडा में कमल शर्मा हत्याकांड का सनसनीखेज खुलासा, बहन के मुस्लिम लड़के से रिश्तों का विरोध बना मौत की वजह, हत्यारोपी यूट्यूबर और बाइक स्टंटबाज है -* नोएडा के कमल शर्मा हत्याकांड का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। कमल शर्मा की हत्या उसके बहन के प्रेमी ने की है। यह युवक यूट्यूबर है और बाइक स्टंट भी करता है। बड़ी बात यह है कि हत्यारोपी के यूट्यूब चैनल पर सात लाख से ज्यादा सब्सक्राइबर हैं। नोएडा में एलिवेटेड रोड पर कमल शर्मा की 28 अक्टूबर की रात गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने सोमवार को इस हत्याकांड का खुलासा कर दिय*

0
133

*नोएडा में कमल शर्मा हत्याकांड का सनसनीखेज खुलासा, बहन के मुस्लिम लड़के से रिश्तों का विरोध बना मौत की वजह, हत्यारोपी यूट्यूबर और बाइक स्टंटबाज है

*नोएडा में कमल शर्मा हत्याकांड का सनसनीखेज खुलासा, बहन के मुस्लिम लड़के से रिश्तों का विरोध बना मौत की वजह, हत्यारोपी यूट्यूबर और बाइक स्टंटबाज है -*

 

नोएडा के कमल शर्मा हत्याकांड का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। कमल शर्मा की हत्या उसके बहन के प्रेमी ने की है। यह युवक यूट्यूबर है और बाइक स्टंट भी करता है। बड़ी बात यह है कि हत्यारोपी के यूट्यूब चैनल पर सात लाख से ज्यादा सब्सक्राइबर हैं। नोएडा में एलिवेटेड रोड पर कमल शर्मा की 28 अक्टूबर की रात गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने सोमवार को इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। शुरुआत में इसे हादसा माना जा रहा था लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि कमल शर्मा को दिल के पास गोली मारकर उनकी हत्या की गई है।

गौतमबुद्ध नगर के अपर पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) लव कुमार ने बताया कि इस मामले में कमल शर्मा की बहन के प्रेमी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि कमल शर्मा की बहन और मुख्य हत्यारोपी निजामुल एक-दूसरे से प्यार करते थे। कमल इसका विरोध कर रहा था। इस कारण निजामुल ने अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर एलिवेटेड रोड पर कमल शर्मा की गोली मारकर हत्या कर दी। गिरफ्तार मुख्य आरोपी निजामुल यूट्यूबर है और उसके चैनल पर 7 लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं।

गौतमबुद्ध नगर के अपर पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) लव कुमार ने सोमवार की दोपहर बाद इस मामले का खुलासा करने के लिए प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया। इस दौरान उन्होंने बताया कि 28 अक्टूबर की शाम एलिवेटेड रोड पर इस्कॉन मंदिर की तरफ उतरने वाले रास्ते पर कमल शर्मा को गोली मार दी गई थी। इसमें उसकी मौत हो गई थी। इस हत्याकांड की जांच के दौरान सेक्टर-53 के निवासी निजामुल, सेक्टर-20 के निवासी अमित गुप्ता और उस्मानपुर (दिल्ली) के निवासी सुमित शर्मा को गिरफ्तार किया गया है। लव कुमार ने बताया कि मुख्य आरोपी निजामुल है। वह कमल शर्मा की बहन से प्यार करता है। युवक और युवती दोनों एक-दूसरे से प्यार करते हैं। यह बात कमल शर्मा को पसंद नहीं थी। वह कई बार अपनी बहन को निजामुल से दूर रहने की हिदायत दे चुका था। उस पर निजामुल से तालुकात नहीं रखने का दबाव बना रहा था। निजामुल से भी उसने अपनी बहन से दूर रहने के लिए कई बार बोला था।

*कमल शर्मा ने एक बार निजामुल की पिटाई की, जिससे रंजिश पैदा हुई*

निजामुल ने पूछताछ में बताया है कि एक बार कमल शर्मा ने गुस्से में आकर उसकी पिटाई की थी। इसके बाद से निजामुल ने मन में कमल शर्मा के प्रति रंजिश पाल ली थी। निजामुल ने अपने बचपन के दोस्त अमित गुप्ता और सुमित शर्मा के साथ मिलकर कमल शर्मा को ठिकाने लगाने की योजना बनाई। तीनों युवकों ने मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया है।

*कमल शर्मा का रिश्तेदार सुमित शर्मा भी हत्याकांड में शामिल*

तीसरा आरोपी सुमित शर्मा, कमल शर्मा का रिश्तेदार है। अपर पुलिस आयुक्त ने बताया कि कमल शर्मा सेक्टर-63 की एक कंपनी के मानव संसाधन विभाग में कार्यरत था। निजामुल और उसके दोनों दोस्तों ने 27 अक्टूबर को सेक्टर-63 से कमल के घर तक पीछा कर रेकी की थी। इसके बाद 28 अक्टूबर की रात अमित और निजाम ने बाइक से कमल शर्मा का सेक्टर-63 से पीछा शुरू किया। अमित बाइक चला रहा था और निजामुल पीछे बैठा हुआ था।

*इस्कॉन मंदिर के पास हत्याकांड को अंजाम दिया*

एलिवेटेड रोड पर इस्कॉन मंदिर के सामने नीचे उतरने वाले रास्ते के पास निजामुल ने कमल को गोली मार दी और वहां से भाग गए। वहां से गुजर रहे सेक्टर-25 के निवासी देवेश यादव ने राहगीरों की मदद से घायल कमल शर्मा को अस्पताल में भर्ती किया था। जहां उनकी मौत हो गई। रात में इस मामले को सड़क हादसा माना जा रहा था। पुलिस और डॉक्टरों ने सड़क हादसा मानकर ही कमल शर्मा के परिवार को जानकारी दी थी। जब कमल शर्मा का पोस्टमार्टम किया गया तो उनके दिल के पास गोली फसी हुई मिली थी। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने पुलिस को बताया कि कमल शर्मा की गोली मारकर हत्या की गई है।

*अगले दिन भीड़ ने रोड जाम किया, बहन भी प्रदर्शन में शामिल हुई*

अगले दिन 29 अक्टूबर को पोस्टमार्टम के बाद कमल शर्मा का शव परिजनों को सौंपा गया था। निठारी गांव के लोग कमल शर्मा के रिश्तेदार और परिजन लास्ट लेकर सेक्टर-25 के पास मुख्य रास्ते पर बैठ गए थे। करीब 3 घंटे तक विरोध प्रदर्शन किया गया। हत्यारोपियों को 48 घंटे में गिरफ्तार करने का पुलिस को अल्टीमेटम दिया गया था। जब लोग सड़क से नहीं हटे तो गौतमबुद्ध नगर के सांसद डॉ महेश शर्मा और अपर पुलिस आयुक्त लव कुमार लोगों से मुलाकात करने गए थे जल्दी गिरफ्तारी का आश्वासन दिया था। अब चार दिनों में पुलिस टीम ने इस मामले का खुलासा किया और तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

*कमल शर्मा की बहन और निजामुल का 6 साल से अफेयर था*

पुलिस ने बताया कि हत्यारोपी निजामुल और कमल शर्मा की बहन का करीब 6 वर्षो से अफेयर चल रहा था। इन दोनों की दोस्ती एक कॉमन फ्रेंड के जरिए वर्ष 2014 में हुई थी। वर्ष 2017 से दोनों एक-दूसरे से प्रेम करने लगे। धीरे-धीरे जब इसकी जानकारी घरवालों को हुई तो कमल शर्मा इसका विरोध करने लगा। अपनी बहन को उससे दूर रहने की हिदायत दी। इसके बाद भी दोनों आपस में बातचीत करते रहे और मिलते रहे। इस प्रेम संबंध का विरोध करने के कारण ही निजामुल, कमल शर्मा से रंजिश रखने लगा और इस पूरी घटना को अंजाम दिया है।

*निजामुल बाइक स्टंट करता है और यूट्यूबर है*

नोएडा के अपर पुलिस उपायुक्त रणविजय सिंह ने बताया, निजामुल खान एक सफल यूट्यूबर है। वह बाइक से स्टंट करके यूट्यूब पर वीडियो डालता है। वह खासा लोकप्रिय है। उसके यूट्यूब चैनल को 7 लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं। उसके हर वीडियो को लाखों लोग देखते हैं। कई वीडियो तो 45 मिलियन लोगों ने देखे हैं। रणविजय सिंह ने बताया कि छानबीन में जानकारी मिली है कि निजामुल अपने यूट्यूब चैनल से हर महीने करीब 80 हजार रुपए कमा लेता है। वह नोएडा शहर में एक रजाई गद्दे बेचने वाली दुकान में नौकरी करता है।

*महज 10 दिनों की प्लानिंग में कमल शर्मा को मौत के घाट उतारा गया*

रणविजय सिंह ने बताया कि घटना से 10 दिन पहले कमल ने अपनी बहन को मोबाइल पर चोरी छुपे बात करते हुए देख लिया था। इसके बाद उसने उसका मोबाइल तोड़ दिया था। लिहाजा, निजामुल की लड़की से बात बन्द हो गई थी। निजामुल ने कमल शर्मा की एक दूर की बुआ के माध्यम से बातचीत करने की कोशिश की थी। वह लड़की से सम्पर्क नहीं कर सका। महज 10 दिनों की इस दूरी ने उसे कमल के खिलाफ खूनी खेल में लाकर खड़ा कर दिया। इस वारदात में निजाम के साथ उसके बचपन का दोस्त अमित गुप्ता और सुमित शर्मा शामिल था। आरोपी सुमित शर्मा, कमल का दूर के रिश्ते में भाई लगता है। दरअसल, कमल की बहन ने ही निजामुल को 2 साल पहले सुमित से मिलवाया था।

-*

 

नोएडा के कमल शर्मा हत्याकांड का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। कमल शर्मा की हत्या उसके बहन के प्रेमी ने की है। यह युवक यूट्यूबर है और बाइक स्टंट भी करता है। बड़ी बात यह है कि हत्यारोपी के यूट्यूब चैनल पर सात लाख से ज्यादा सब्सक्राइबर हैं। नोएडा में एलिवेटेड रोड पर कमल शर्मा की 28 अक्टूबर की रात गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने सोमवार को इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। शुरुआत में इसे हादसा माना जा रहा था लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि कमल शर्मा को दिल के पास गोली मारकर उनकी हत्या की गई है।

गौतमबुद्ध नगर के अपर पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) लव कुमार ने बताया कि इस मामले में कमल शर्मा की बहन के प्रेमी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि कमल शर्मा की बहन और मुख्य हत्यारोपी निजामुल एक-दूसरे से प्यार करते थे। कमल इसका विरोध कर रहा था। इस कारण निजामुल ने अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर एलिवेटेड रोड पर कमल शर्मा की गोली मारकर हत्या कर दी। गिरफ्तार मुख्य आरोपी निजामुल यूट्यूबर है और उसके चैनल पर 7 लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं।

गौतमबुद्ध नगर के अपर पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) लव कुमार ने सोमवार की दोपहर बाद इस मामले का खुलासा करने के लिए प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया। इस दौरान उन्होंने बताया कि 28 अक्टूबर की शाम एलिवेटेड रोड पर इस्कॉन मंदिर की तरफ उतरने वाले रास्ते पर कमल शर्मा को गोली मार दी गई थी। इसमें उसकी मौत हो गई थी। इस हत्याकांड की जांच के दौरान सेक्टर-53 के निवासी निजामुल, सेक्टर-20 के निवासी अमित गुप्ता और उस्मानपुर (दिल्ली) के निवासी सुमित शर्मा को गिरफ्तार किया गया है। लव कुमार ने बताया कि मुख्य आरोपी निजामुल है। वह कमल शर्मा की बहन से प्यार करता है। युवक और युवती दोनों एक-दूसरे से प्यार करते हैं। यह बात कमल शर्मा को पसंद नहीं थी। वह कई बार अपनी बहन को निजामुल से दूर रहने की हिदायत दे चुका था। उस पर निजामुल से तालुकात नहीं रखने का दबाव बना रहा था। निजामुल से भी उसने अपनी बहन से दूर रहने के लिए कई बार बोला था।

*कमल शर्मा ने एक बार निजामुल की पिटाई की, जिससे रंजिश पैदा हुई*

निजामुल ने पूछताछ में बताया है कि एक बार कमल शर्मा ने गुस्से में आकर उसकी पिटाई की थी। इसके बाद से निजामुल ने मन में कमल शर्मा के प्रति रंजिश पाल ली थी। निजामुल ने अपने बचपन के दोस्त अमित गुप्ता और सुमित शर्मा के साथ मिलकर कमल शर्मा को ठिकाने लगाने की योजना बनाई। तीनों युवकों ने मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया है।

*कमल शर्मा का रिश्तेदार सुमित शर्मा भी हत्याकांड में शामिल*

तीसरा आरोपी सुमित शर्मा, कमल शर्मा का रिश्तेदार है। अपर पुलिस आयुक्त ने बताया कि कमल शर्मा सेक्टर-63 की एक कंपनी के मानव संसाधन विभाग में कार्यरत था। निजामुल और उसके दोनों दोस्तों ने 27 अक्टूबर को सेक्टर-63 से कमल के घर तक पीछा कर रेकी की थी। इसके बाद 28 अक्टूबर की रात अमित और निजाम ने बाइक से कमल शर्मा का सेक्टर-63 से पीछा शुरू किया। अमित बाइक चला रहा था और निजामुल पीछे बैठा हुआ था।

*इस्कॉन मंदिर के पास हत्याकांड को अंजाम दिया*

एलिवेटेड रोड पर इस्कॉन मंदिर के सामने नीचे उतरने वाले रास्ते के पास निजामुल ने कमल को गोली मार दी और वहां से भाग गए। वहां से गुजर रहे सेक्टर-25 के निवासी देवेश यादव ने राहगीरों की मदद से घायल कमल शर्मा को अस्पताल में भर्ती किया था। जहां उनकी मौत हो गई। रात में इस मामले को सड़क हादसा माना जा रहा था। पुलिस और डॉक्टरों ने सड़क हादसा मानकर ही कमल शर्मा के परिवार को जानकारी दी थी। जब कमल शर्मा का पोस्टमार्टम किया गया तो उनके दिल के पास गोली फसी हुई मिली थी। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने पुलिस को बताया कि कमल शर्मा की गोली मारकर हत्या की गई है।

*अगले दिन भीड़ ने रोड जाम किया, बहन भी प्रदर्शन में शामिल हुई*

अगले दिन 29 अक्टूबर को पोस्टमार्टम के बाद कमल शर्मा का शव परिजनों को सौंपा गया था। निठारी गांव के लोग कमल शर्मा के रिश्तेदार और परिजन लास्ट लेकर सेक्टर-25 के पास मुख्य रास्ते पर बैठ गए थे। करीब 3 घंटे तक विरोध प्रदर्शन किया गया। हत्यारोपियों को 48 घंटे में गिरफ्तार करने का पुलिस को अल्टीमेटम दिया गया था। जब लोग सड़क से नहीं हटे तो गौतमबुद्ध नगर के सांसद डॉ महेश शर्मा और अपर पुलिस आयुक्त लव कुमार लोगों से मुलाकात करने गए थे जल्दी गिरफ्तारी का आश्वासन दिया था। अब चार दिनों में पुलिस टीम ने इस मामले का खुलासा किया और तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

*कमल शर्मा की बहन और निजामुल का 6 साल से अफेयर था*

पुलिस ने बताया कि हत्यारोपी निजामुल और कमल शर्मा की बहन का करीब 6 वर्षो से अफेयर चल रहा था। इन दोनों की दोस्ती एक कॉमन फ्रेंड के जरिए वर्ष 2014 में हुई थी। वर्ष 2017 से दोनों एक-दूसरे से प्रेम करने लगे। धीरे-धीरे जब इसकी जानकारी घरवालों को हुई तो कमल शर्मा इसका विरोध करने लगा। अपनी बहन को उससे दूर रहने की हिदायत दी। इसके बाद भी दोनों आपस में बातचीत करते रहे और मिलते रहे। इस प्रेम संबंध का विरोध करने के कारण ही निजामुल, कमल शर्मा से रंजिश रखने लगा और इस पूरी घटना को अंजाम दिया है।

*निजामुल बाइक स्टंट करता है और यूट्यूबर है*

नोएडा के अपर पुलिस उपायुक्त रणविजय सिंह ने बताया, निजामुल खान एक सफल यूट्यूबर है। वह बाइक से स्टंट करके यूट्यूब पर वीडियो डालता है। वह खासा लोकप्रिय है। उसके यूट्यूब चैनल को 7 लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं। उसके हर वीडियो को लाखों लोग देखते हैं। कई वीडियो तो 45 मिलियन लोगों ने देखे हैं। रणविजय सिंह ने बताया कि छानबीन में जानकारी मिली है कि निजामुल अपने यूट्यूब चैनल से हर महीने करीब 80 हजार रुपए कमा लेता है। वह नोएडा शहर में एक रजाई गद्दे बेचने वाली दुकान में नौकरी करता है।

*महज 10 दिनों की प्लानिंग में कमल शर्मा को मौत के घाट उतारा गया*

रणविजय सिंह ने बताया कि घटना से 10 दिन पहले कमल ने अपनी बहन को मोबाइल पर चोरी छुपे बात करते हुए देख लिया था। इसके बाद उसने उसका मोबाइल तोड़ दिया था। लिहाजा, निजामुल की लड़की से बात बन्द हो गई थी। निजामुल ने कमल शर्मा की एक दूर की बुआ के माध्यम से बातचीत करने की कोशिश की थी। वह लड़की से सम्पर्क नहीं कर सका। महज 10 दिनों की इस दूरी ने उसे कमल के खिलाफ खूनी खेल में लाकर खड़ा कर दिया। इस वारदात में निजाम के साथ उसके बचपन का दोस्त अमित गुप्ता और सुमित शर्मा शामिल था। आरोपी सुमित शर्मा, कमल का दूर के रिश्ते में भाई लगता है। दरअसल, कमल की बहन ने ही निजामुल को 2 साल पहले सुमित से मिलवाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here