*पार्षद ऋषि मोहन के प्रयास से आजम को मिला इलाज के लिए 1.25 लाख रुपये* *लिपिक त्रुटि की वजह से आजम की जगह चला गया था अशोक का नाम*

0
131

*पार्षद ऋषि मोहन के प्रयास से आजम को मिला इलाज के लिए 1.25 लाख रुपये*

*लिपिक त्रुटि की वजह से आजम की जगह चला गया था अशोक का नाम*

 

गोरखपुर। हुमायूंपुर उत्तरी निवासी किडनी रोग से पीड़ित मोहम्मद आजम पुत्र असलम ने मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से अनुदान हेतु आवेदन किया था। जनवरी माह में जिलाधिकारी कार्यालय द्वारा शासन को प्रेषित आख्या में त्रुटि हो गई थी।जिसके कारण आजम के इलाज का अनुदान अभी तक प्राप्त नहीं हो सका था। आजम एवं उनके स्वजनों ने हिंदू युवा वाहिनी के महानगर संयोजक एवं पार्षद दल के उप नेता ऋषि मोहन वर्मा को प्रकरण से अवगत कराया। पार्षद ने प्रकरण को गोरखनाथ मंदिर स्थित मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय के वीरेंद्र सिंह के संज्ञान में लाया। कैंप कार्यालय द्वारा प्रमुख सचिव आपदा अनुभाग 4 लखनऊ में संपर्क करने पर ज्ञात हुआ कि आख्या रिपोर्ट त्रुटि हो गई है और आजम का नाम गलत भेज दिया गया है ।
पार्षद ऋषि मोहन वर्मा ने हिंदू युवा वाहिनी के प्रतिनिधि मंडल के साथ जिलाधिकारी से मिलकर पत्रक सौंप कर शीघ्र इलाज हेतु आंख्या में सुधार कर शासन भेजने की मांग की थी। 13 अक्टूबर को शासन द्वारा ₹125000 मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से इलाज हेतु स्वीकृत किया गया गरीब आजम का परिवार आज मुख्यमंत्री के प्रति आभार ज्ञापित करते हुए प्रसन्नता व्यक्त किया है। हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश महामंत्री इंजीनियर पीके मल महानगर अध्यक्ष रणंजय सिंह जुगनू, महामंत्री आशीष गुप्ता ने भी विवेकाधीन कोष से आजम को मिले अनुदान के प्रति मुख्यमंत्री योगी को धन्यवाद ज्ञापित किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here