*पीपल का वृक्ष फेफड़ों के लिए भी होता है फायदेमंद *

0
22

फेफड़ों के लिए भी होता है फायदेमंद 
फेफड़ों के रास्ते में सूजन और कसाव उत्पन्न होना, गले में घरघराहट, सांस लेने में तकलीफ, सीने में जकड़न के साथ खांसी आने पर आप पीपल के पत्ते का सेवन कर सकते हैं. पीपल के पत्ते के अर्क में ऐसे विशेष गुण पाए जाते हैं, जो ब्रोंकोस्पास्म पर प्रभावी असर दिखा सकता है. सांस के रोगियों को हर रोज पीपल के दो हरे पत्तों का इस्तेमाल करना चाहिए. इसके इस्तेमाल से आराम मिलता है. साथ ही पीपल के पत्ते ऑक्सीजन लेवल को बढ़ाने में भी कारगर होते हैं.

 

इम्यूनिटी को बनाता है मजबूत
पीपल का पत्ता रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है. कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच हर व्यक्ति को रोग प्रतिरोधक क्षमता को पहले से ही इतनी मजबूत कर लेनी चाहिए कि संक्रमण हावी न हो सके. इसके लिए आप पीपल के पत्ते के साथ गिलोय के तने  का मिश्रण तैयार कर लें. इस मिश्रण का सेवन दिन में चार बार करे. ऐसा निरंतर करते रहने से इम्यूनिटी बूस्ट होती है.

 

लीवर के लिए है फायदेमंद 
ज्यादा शराब का सेवन करने से इसका लीवर पर खराब असर पड़ता है. ऐसे में लीवर को स्वस्थ रखने के लिए पीपल के पत्ते का सेवन किया जा सकता है. पीपल में लीवर को डैमेज होने से बचाने वाली एक क्रिया पाई जाती है. इसके अर्क का उपयोग करने से लीवर को खराब होने से बचाया जा सकता है. इस लिए लीवर के रोगियों को प्रतिदिन सुबह में पीपल के दो पत्तों का सेवन करना चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here