*पूर्वांचल मे पहली बार मां के गर्भ से संक्रमण लेकर पैदा हुआ बच्‍चा*

0
62

पूर्वांचल मे पहली बार मां के गर्भ से संक्रमण लेकर पैदा हुआ बच्‍चा

बीआरडी मेडिकल कालेज में एक बच्‍चा मां के गर्भ से संक्रमण लेकर पैदा हुआ। –

गोरखपुर, बाबा राघव दास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज में छह माह के अंदर संक्रमित प्रसूता का एक नवजात पहली बार पॉजिटिव मिला है। मां-बेटे दोनों को कोरोना वार्ड में भर्ती कराया गया था। 10 दिन बाद दूसरी बार जांच कराई गई तो दोनों पुन: पॉजिटिव आए। उन्हें स्वजन अपनी जिम्मेदारी पर लेकर घर चले गए हैं। कॉलेज प्रशासन ने 10 दिन बाद पुन: जांच के लिए बुलाया है।

पिपराइच की एक प्रसूता को 21 सितंबर को बीआरडी में भर्ती कराया गया। वह कोरोना संक्रमित थीं। 22 को उनका प्रसव कराया गया। 23 को कोरोना जांच के लिए नवजात का नमूना लिया गया। 24 सितंबर को रिपोर्ट पॉजिटिव आई। दोनों में कोई लक्षण नहीं थे। 10 दिन के बाद उनकी पुन: जांच कराई गई तो मां-बेटे पॉजिटिव आए। होम आइसोलेट करने की बात कहकर स्वजन उन्हें लेकर घर चले गए। पिछले छह माह में 105 संक्रमित प्रसूताओं का प्रसव कराया गया। इनमें 26 का सामान्य व 79 का ऑपरेशन से प्रसव हुआ। छह महिलाओं ने जुड़वा व एक ने चार बच्चों को जन्म दिया। इस दौरान कुल 114 नवजात पैदा हुए। 113 बच्चे संक्रमण से मुक्त रहे।

संक्रमित मां से अलग रखे जाते हैं बच्चे

जिन नवजातों में संक्रमण नहीं है, उन्हें संक्रमित मां से अलग रखा जाता है। इसके लिए कोविड नर्सरी बनाई गई है। जहां डॉक्टर व स्टाफ नर्स की टीम उनकी देखरेख करती है। उन्हें सिर्फ दूध पिलाने के लिए पूरी सुरक्षा के साथ मां के पास लाया जाता है।

अभी तक एक को छोड़कर संक्रमित प्रसूताओं के सभी बच्चे संक्रमण से मुक्त रहे। मेडिकल कॉलेज में ऐसा पहला मामला सामने आया है कि नवजात संक्रमित मिला है। पुन: पॉजिटिव आने पर स्वजन उन्हें लेकर घर चले गए हैं। उन्हें 10 दिन बाद पुन: जांच के लिए बुलाया गया है। -डा. गणेश कुमार, प्राचार्य, बीआरडी मेडिकल कॉलेज

कोरोना काल में संक्रमित प्रसूताओं के प्रसव

कुल प्रसव- 105

सामान्य- 26

ऑपरेशन- 79

कुल पैदा हुए बच्चे- 114

जुड़वा बच्चों वाली प्रसूताएं- 06

चार बच्चे जनने वाली प्रसूता- 01

संक्रमित नवजात- 01

संक्रमण मुक्त बच्चे- 113

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here