*बुजुर्ग, महिला पुरुषों को सोनौली बॉर्डर से नेपाल जाने में खाने पड़ रहे है धक्के*

0
8

*बुजुर्ग, महिला पुरुषों को सोनौली बॉर्डर से नेपाल जाने में खाने पड़ रहे है धक्के

महराजगंज जनपद भारत से नेपाल जाने के लिए लोग सोच रहे हैं तो अपना कार्यक्रम सुरक्षित कर दें। क्योंकि भारत नेपाल सीमा पर नेपाली प्रशासन काफी सख्त है। किसी भी भारतीय नागरिक को नेपाल में प्रवेश की अनुमति नहीं दे रहे हैं। यहां तक ​​की विभिन्न जिलों से लोग भैरहवा में आंख का इलाज कराने के लिए सोनौली बॉर्डर पहुंच रहे हैं। बुजुर्ग, महिला पुरुषों को बॉर्डर पर धक्के खाने पड़ रहे हैं, और एसएसबी पुलिस के विशेष सिफारिश पर ही कुछ इमरजेंसी आंख वाले रोगियों को ही नेपाल में किसी ओर को भेजा जा रहा है आज रविवार को भी भोर से ही कई दर्जन गोरखपुर, मऊ, देवरिया, बनारस, आजमगढ़ गाजीपुर, बलिया के लोग बोरिया बिस्तर के साथ कोई अपने बुजुर्ग माता तो कोई पिता के साथ बॉर्डर पहुंच गए, आंखें खराब करने के लिए लेकिन उन्हें नेपाल पुलिस ने नेपाली सीमा में घुसने नहीं दिया। सुबह 5: बजे से उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिला के फूलपुर थाना क्षेत्र के मुस्लिम अंसारी 55 वर्ष, बृजेंद्र बहादुर सिंह देवरिया सदर, जयवर्धन फाइन चौक जीबीगंज, राम नयन देवरिया, ईश्वरपुर बढ़िया चौक सहित ऐसे कई दर्जन लोग भारतीय सीमा में बैठकर बॉर्डर पहुंचने का आदेश दे रहे हैं।इन लोगों की पीड़ा और दर्द को समझते हुए एसएसबी सोनौली मेन गेट के इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार ने नेपाल की सशस्त्र पुलिस बल से विशेष रुप से बातचीत कर किसी तरह सभी आंख के मरीजों को नेपाल भिजवाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here