*भाग–दो* ——————- *कोविड-19 प्रबंधन हेतु गठित टीम-11 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिशा-निर्देश*

0
36

*भाग–दो*
——————-
*कोविड-19 प्रबंधन हेतु गठित टीम-11 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिशा-निर्देश*

– कोविड की इस विभीषिका के बीच राज्य सरकार प्रत्येक नागरिक के भरण-पोषण की समुचित व्यवस्था के लिए संकल्पित है।संबंधित विभाग इस संबंध में तत्काल कार्ययोजना तैयार करे।

– ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना के लिए निजी क्षेत्र की ओर से निवेश के कई बड़े प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। यह न केवल भविष्य में ऑक्सीजन उत्पादन को बढ़ाने वाले होंगे, बल्कि रोजगार सृजन के दृष्टिगत भी महत्वपूर्ण सिद्ध होंगे। यूपीसीडा, औद्योगिक अवस्थापना और एमएसएमई सहित सभी संबंधित विभाग इन प्रस्तावों का परीक्षण कर इन्हें यथा आवश्यक सहयोग प्रदान करें।

– कोविड की पिछली लहर में आयुष विभाग की भूमिका सराहनीय रही थी। इस बार उन्हें उसी तत्परता के साथ सक्रिय होने की आवश्यकता है। लोगों को आयुष काढ़ा सहित अन्य उपयोगी औषधियां मुहैया कराई जाएं।

– आइसीसीसी से भेजे गए मरीज को भर्ती करना अस्पतालों के लिए अनिवार्य है। रिक्त बेड्स के बारे में हर दिन दो बार सार्वजनिक रूप से जानकारी दी जाए। सरकारी अस्पताल में बेड नहीं खाली है तो निजी अस्पतालों में भर्ती कराया जाए, अगर मरीज भुगतान में सक्षम नहीं है तो राज्य सरकार भुगतान करेगी। लेकिन एक भी मरीज को इलाज से वंचित नहीं रखा जाएगा। सभी जिलों में यह व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए।

– मेरठ, हाथरस सहित कुछ जिलों में अवैध शराब की गतिविधियां घटित हुई हैं। अपर मुख्य सचिव आबकारी के स्तर से ऐसी घटनाओं की समीक्षा कर आवश्यक कार्रवाई की जाए।दोषियों के खिलाफ़ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

– चीनी मिलों का संचालन यथावत जारी रहे। गन्ना मूल्य भुगतान की कार्यवाही तेजी से हो रही है। इसकी लगातार समीक्षा की जाए। एक भी किसान का गन्ना मूल्य का बकाया न रहे। चीनी मिलों में सैनीटाइज़र का निर्माण तेजी से किया जाए।

– अस्पतालों और ऑक्सीजन प्लांट की सुरक्षा के सभी जरूरी इंतजाम किए जाएं। इन संवेदनशील स्थलों पर पुलिस बल की तैनाती रहे। जिलों में कंटेनमेंट ज़ोन और क्वारन्टीन सेंटरों की व्यवस्था को सुदृढ किया जाए। सभी गांवों में क्वारन्टीन सेंटर तैयार किये जाएं। आइसीसीसी और पब्लिक एड्रेस सिस्टम की व्यवस्था को बेहतर किए जाने की जरूरत है।

– भारत सरकार द्वारा सभी जिलों में ऑक्सीजन जेनेरेशन प्लांट कराई जा रही है। इस संबंध में शेष 61 जिलों का प्रस्ताव भेज दिया गया है। स्थापना की कार्यवाही तेज की जाए। 100 बेड से अधिक क्षमता वाले सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की कार्ययोजना तैयार करें। इसके अलावा, चिकित्सा शिक्षा विभाग के स्तर पर प्रक्रियाधीन ऑक्सीजन प्लांट को तेजी से क्रियाशील कराएं।

– उत्तर प्रदेश सर्वाधिक टीकाकरण करने वाला राज्य है।उत्तर प्रदेश में टीकाकरण अभियान तेजी से चल रहा है।दोनों स्वदेशी वैक्सीन निर्माता कंपनियों से सतत संपर्क बनाए रखा जाए। 50-50 लाख डोज के ऑर्डर दे दिए गए हैं।आवश्यकतानुसार और आर्डर दिए जाएं।

– एक मई से 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण कराया जाना है। यह टीकाकरण राज्य सरकार द्वारा कराया जाएगा। किसी भी दशा में वेस्टेज न हो, इसके लिए विशेष कार्ययोजना बनाई जाए। 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के टीकाकरण में भारत सरकार से सहयोग प्राप्त हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here