*यूपी बोर्ड परीक्षा शुरू होने से पहले पंचायती चुनाव होने की संभावना* *26 व 27 मार्च को हो सकती है अधिसूचना जारी*

0
26

*यूपी बोर्ड परीक्षा शुरू होने से पहले पंचायती चुनाव होने की संभावना*

*26 व 27 मार्च को हो सकती है अधिसूचना जारी*

*जनपद में पंचायती चुनाव की तैयारियां पूर्ण*

गोरखपुर।निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार की अध्यक्षता में चुनाव आयोग प्रदेश के सभी कमीश्नर व जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग कर। कानून-व्यवस्था लाइसेंसी हथियारों को जमा करवाए जाने की प्रगति जिलों में चुनाव सामग्री पहुंचने चुनाव कार्मिकों की तैनाती व उनके प्रशिक्षण आदि के बारे में अब तक हुई तैयारी का जायजा लिया
गोरखपुर में एनआइसी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हॉल में सीडीओ/ सहायक पंचायती निर्वाचन अधिकारी इंद्रजीत सिंह ने बताया कि गोरखपुर जनपद में 2986817 वोटर 20 विकास खंडों में 1849 मतदान केंद्रों पर 4657 बूथों पर अपने मताधिकार का प्रयोग करते हुए 1294 ग्राम पंचायतों में प्रधान पद के प्रत्याशी 68 जिला पंचायत 1700 क्षेत्र पंचायत 16372 ग्राम को मतदान करते हुए अपने अपने योग्य प्रत्याशियों का चुनाव करते हुए मतपत्रों को मत पेटियों में उनके भाग्य को बद करगे मतगणना के बाद उनके भाग्य का फैसला किया जाएगा पुलिस अधीक्षक दक्षिणी नोडल अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था अरुण कुमार सिंह ने बताया कि जनपद में शराब निष्कर्षण पर पूर्ण रूप से लगाम लगाया गया है अपराधी किस्म के व्यक्तियों पर 151, 107, 116 में निरुद्ध कर कार्रवाई की जा रही हैं गोरखपुर जनपद में 50 से अधिक शस्त्र धारकों के लाइसेंस निरस्त किए जा चुके हैं जनपद में 7990 शस्त्र धारकों के शस्त्र थानों व दुकानों पर जमा कराए जा चुके हैं आगे और भी शस्त्रों को दुकानों व थानों पर अति शीघ्र जमा करा दिए जाएंगे पंचायती चुनाव सकुशल संपन्न कराने के लिए जिला पुलिस की पर्याप्त व्यवस्था कर ली गई है शासन द्वारा पैरामिलिट्री फोर्स व पीएसी मिलने के बाद संवेदनशील अतिसंवेदनशील अति संवेदनशील प्लस जगहों पर लगाया जाएगा। इस बार पंचायत चुनाव ब्लाकवार न कराकर एक साथ पूरे जिले या मंडल में कराने की योजना है। ग्राम पंचायत क्षेत्र पंचायत एवं जिला पंचायत के चुनाव एक साथ होने के कारण हर मतदाता को चार वोट देने का मौका मिलेगा। प्रशासन की योजना है कि बूथ पर अधिकतम 800 वोट निर्धारित किए जाएंगे। इस बीच प्रशासन का पूरा फोकस सुरक्षा व्यवस्था को लेकर है। चुनाव आयोग के निर्देश पर एसडीएम की अध्यक्षता में गठित कमेटी की रिपोर्ट पर बवाल की आंशका वाले केंद्रों को चिन्हित किया गया है। इस कमेटी में सीओ तहसीलदार बीडीओ एवं थानाध्यक्ष भी शामिल किये गये है। यदि किसी पुराने मामले के चलते इस बार भी आशंका होगी तो उसे सुलझाया जाएगा। जिन पर बवाल करने या कराने का संदेह होगा उन्हें चेतावनी दी जाएगी। न मानने पर जेल भेजने व जिला बदर करने की भी तैयारी है। माना जा रहा है कि प्रशासन व पुलिस के हस्तक्षेप के बाद कुछ स्थानों पर विवाद की आशंका समाप्त हो सकती है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव आगामी 24 अप्रैल से शुरू होने वाली यूपी बोर्ड परीक्षाओं से पहले ही कराने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने तैयारी शुरू कर दी है। पंचायत चुनाव में आरक्षण निर्धारण नए सिरे से करने के हाईकोर्ट के 15 मार्च के आदेश के बाद माना जा रहा था कि इस प्रक्रिया में समय लगने के कारण संभवत: बोर्ड परीक्षा कार्यक्रम बाधित हो। लेकिन अब प्रदेश सरकार के निर्देश पर आयोग ने बोर्ड परीक्षा शुरू होने से पहले ही यानि 23 अप्रैल तक चार चरणों में ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत, क्षेत्र व जिला पंचायत सदस्य के चारों पदों के लिए मतदान कराने की तैयारी तेज कर दी है।आयोग ने इन चुनावों के लिए जो प्रस्तावित कार्यक्रम तैयार किया है उसके मुताबिक आगामी 26 या 27 मार्च को पंचायतीराज विभाग आरक्षण प्रक्रिया पूरी कर ब्योरा आयोग को सौंप देगा। इसी क्रम में आयोग राज्य सरकार को चुनाव का प्रस्तावित कार्यक्रम भेज कर परामर्श मांगेगा। प्रदेश सरकार राज्यपाल की अनुमति लेकर इस प्रस्तावित कार्यक्रम को स्वीकृति देगी और उसी के अनुसार 27 या 28 मार्च को आयोग पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी कर देगा। अप्रैल के पहले सप्ताह से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी और पहले चरण का मतदान 10 अप्रैल को तथा आखिरी चरण का मतदान 22 या 23 अप्रैल को करा लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here