*योग आत्मबल का एक बहुत बड़ा बना माध्यम———* * रिपोर्ट – कैलाश सिंह*

0
5

योग आत्मबल का एक बहुत बड़ा बना माध्यम—————–महाराजगज 21 जून। जब कोरोना के अदृष्य वायरस ने दुनिया में दस्तक दी थी, तब कोई भी देश, साधनों से, सामर्थ्य से और मानसिक अवस्था से, इसके लिए तैयार नहीं था। हम सभी ने देखा है कि ऐसे कठिन समय में, योग आत्मबल का एक बड़ा माध्यम बना।पहली बार अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस साल 2015 में मनाया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के योग दिवस मनाने की घोषणा के बाद राजपथ पर पीएम मोदी की अगुवाई में 35 हजार लोगों की उपस्थिति में योग दिवस मनाया गया था। उक्त बातें सांसद पंकज चौधरी ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर धनेवा स्थित अपने आवास पर योग करने के उपरान्त उपस्थित लोगों से कहा। उ होने कहाकि योग को जीवन का हिस्सा बनाइए, वो वर्तमान में भी आपकी मदद करेगा और भविष्य में भी आपकी उर्जा को बढ़ाने का काम करेगा। इस अवसर पर सदर विधायक जयमंगल कन्नौजीया ने कहा कि योग कोरोना से पहले भी मददगार था, कोरोना के बीच भी मददगार था और कोरोना के बाद तो है ही। जैसे हम भोजन और स्वास्थ्य से बंधे हैं, योग को भी साथ जोड़ें।इस कार्यक्रम में अजय कुमार श्रीवास्तव, जिला उपाध्यक्ष अमरनाथ पटेल, सांसद प्रतिनिधि जगदीश मिश्र, सभासद लाल जी गुप्ता, भाजयुमो जिलाध्यक्ष दिनेश जॉयसवाल, पूर्व नगर अध्यक्ष रमेश मोदनवाल, भीम गौड़,सुनील मिश्र आदि लोग सांसद विधायक के साथ योग कार्यक्रम में भाग लिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here