*लहलहाती धान की फसल देख किसान गदगद ,पराली निस्तारण की सता रही चिंता ———*

0
150

लहलहाती धान की फसल देख किसान गदगद ,पराली निस्तारण की सता रही चिंता —————-महराजगंज: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस कोविड-19 के उपजे गंभीर संकट के बीच लगातार आर्थिक तंगी की मार झेल रहे किसानों को अब खेतों में खड़ी अपनी मुख्य खरीफ फसल धान से आस बंधी है।कृषि विशेषज्ञों ने इस सीजन में रिकार्ड धान के पैदावार की उम्मीद जताई है। इसी संभावनाओं एवं खेतों में लगभग पक कर तैयार खड़ी धान की लहलहाती फसल व उसकी लंबी बालियों को देखकर किसान गदगद है। किसानों को उम्मीद है कि उनके दिन बहुरेंगे । उन्हें आर्थिक बदहाली व सरकारी कृषि ऋण से मुक्ति मिलेगी। इससे इतर क्षेत्रीय किसानों में धान की सुगम सरकारी विपणन,ससमय मूल्य भुगतान तथा धान की डंठल /पराली के निस्तारण को लेकर माथे पर चिंता की लकीरें खींची हुई हैं।क्षेत्रीय किसानों चुन्नी सिंह,विभूति दुबे,उमेशचंद त्रिपाठी, सुधीर श्रीवास्तव, कृष्णमोहन पटेल,अरविंद पटेल,पारसनाथ पटेल,रामकेशव दास,बबलू श्रीवास्तव, रमेश पटेल आदि ने जिला प्रशासन से इन समस्याओं के समाधान की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here