*शौचालय निर्माण में घोटाला हजम कर गए स्वच्छता। गोरखपुर बेलघाट शुरुआती दौर में संपूर्ण स्वच्छता अभियान में लाभार्थियों को महज ₹600 प्रोत्साहन राशि के रूप में दी जाती थी ।धनराशि कम होने का बहाना बनाया जाता था।*

0
18

शौचालय निर्माण में घोटाला हजम कर गए स्वच्छता।
गोरखपुर बेलघाट शुरुआती दौर में संपूर्ण स्वच्छता अभियान में लाभार्थियों को महज ₹600 प्रोत्साहन राशि के रूप में दी जाती थी ।धनराशि कम होने का बहाना बनाया जाता था। 2014 में इसका नाम बदलकर स्वच्छता मिशन कर दिया गया प्रोत्साहन राशि को बढ़ाकर 12000 कर दिया गया। आलम यह है कि अब तक 200 करोड़ से ज्यादा खर्च हो गए ।शौचालय निर्माण में व्यापक स्तर पर घोटाला कर लिया गया प्रधान और सचिव स्वच्छता को ही हजम कर गए। स्वच्छता मिशन के अंतर्गत गांव और शहरी क्षेत्रों को शौचमुक्त करने के लिए 200 करोड़ से ज्यादा रुपए अवमुक्त किया गया। जियो टैग कराने के लिए ढांचा खड़ा कर दिया गया लेकिन उसके उपयोग लायक नहीं बनाया गया। 50 फीसद शौचालय प्रयोग के पहले ही खराब पड़ा है।
बेलघाट ब्लॉक के ग्रामसभा सोपाईघाट के ग्रामीणों ने शपथपत्र देकर शौचालय और स्ट्रीट लाइट निर्माण में धांधली की शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद जांच के लिए सचिव राम निदान निषाद को दिया गया ।जो कि वह उस ग्रामसभा के सचिव भी हैं। वह अपने जांच में लिखे की शौचालय निर्माण में कोई अनियमितता और फर्जीवाड़ा नहीं हुआ है और स्ट्रीट लाइट को समुदाय शौचालय बनने के बाद ठीक करा दिया जाएगा। गांव में शौचालय निर्माण में व्यापक स्तर पर धांधली की गई है। गांव के ही गुलाब सिंह ने आईजीआरएस पोर्टल पर दो बार कंप्लेन किया लेकिन जांच करने के लिए सचिव राम निदान निषाद को भेजा गया ।जो कि वह खुद इस घोटाले में शामिल हैं। गांव के ही कुछ लोगों का कहना है कि ग्राम प्रधान से लगाए ब्लॉक के वीडियो ,सहायक विकास अधिकारी (पंचायत )सचिव राम निदान निषाद का पूरा हाथ है ।इन्हीं लोगों के मिलीभगत से ही गांव सोपाईघाट में भ्रष्टाचार अपना विकराल रूप धारण कर लिया है।
सारी जानकारी ग्राम पंचायत अधिकारी राम निदान निषाद को अवगत होते हुए भी बागी कर रहे हैं गलत का सहयोग।
ग्राम सचिव के पास जब कोई पत्रकार जाता है तो वह गोल मटोल की बातें करते हैं ।यह जिस जिस ग्राम सभा के सचिव हैं वह गांव पूरे तरीके से भ्रष्टाचार और घोटाले में विलीन है। यह बेलघाट ब्लॉक के घोटाले करने और कराने में टॉप1 के सचिव हैं। गांव सोपाईघाट की प्रधान जसवंता शर्मा दिनभर अपने चाय की दुकान पर चाय बनाती हैं और गांव की प्रधानी दूसरे ग्राम सभा पिपरी के पूर्व प्रधान के लड़के मेंटल सिंह चलाते हैं ।इससे गांव के ग्रामीणों में काफी आक्रोश फैला हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here