*‍ऑक्सीजन के लिए गोरखपुर में मचा हाहाकार, मोदी केमिकल्‍स के निदेशक ने रतन टाटा को ट्वीट*

0
41

ऑक्‍सीजन के लिए गोरखपुर में मचा हाहाकार, मोदी केमिकल्‍स के निदेशक ने रतन टाटा को ट्वीट
लिक्विड ऑक्सीजन के टैंकर न पहुंचने से गीडा स्थित मोदी केमिकल्स और आरके ऑक्सीजन के लिक्विड प्लांट का रिफिलिंग स्टेशन बंद हो गया। दोनों प्लांट में लिक्विड ऑक्सीजन से रिफिलिंग का काम कब से ठप है,  इस पर न जिला प्रशासन कुछ स्पष्ट कह रहा है और न ही प्लांट मालिक। हालांकि प्लांट संचालकों ने डीएम के विजयेंद्र पांडियन से गुहार लगाई है। डीएम का कहना है कि मंगलवार रात 8 बजे तक लिक्विड ऑक्सीजन टैंकर पहुंच जाएगा जबकि प्लांट संचालकों का कहना है कि उनका ऑक्सीजन टैंकर के बुधवार की सुबह पहुंचने की संभावना है।

गोरखपुर के गीडा स्थित मोदी केमिकल्स और आरके ऑक्सीजन में क्रायोजेनिक टैंकर के ऑक्सीजन गैस के टैंकर लाए जाते हैं। उत्तराखंड के काशीपुर और उड़ीसा के राउरकेला से लिक्विड ऑक्सीजन की आपूर्ति इन प्लांट में होती है। राऊरकेला और काशीपुर से लिक्विड ऑक्सीजन लेकर टैंकर चल चुके हैं लेकिन इन टैंकर के बुधवार की सुबह पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। इन परिस्थितियों में मोदी केमिकल्स में जहां लिक्विड आक्सीजन की रिफिलिंग स्टेशन पर काम बंद हो चुका है। वहीं, आरके ऑक्सीजन में लिक्विड काफी कम मात्रा में बची है। हालांकि मोदी केमिकल्स से दूसरे प्लांट जिससे वायुमण्डल में मौजूद ऑक्सीजन लेकर उत्पादन होता है, चालू है। आरके ऑक्सीजन के संचालक का कहना है कि उनके प्लांट में रिफिलिंग लगभग ठप है। राऊरकेला से क्रायोजेनिक टैंकर के बुधवार की सुबह तक पहुंचने की उम्मीद है।

मेडिकल कॉलेज में रखे हुए जम्बो सिलेण्डर से अस्पतालों को सप्लाई की व्यवस्था कराई गई है। मंगवार की शाम चार बजे टैंकर गाजीपुर निकल चुके थे। रात आठ से 9 बजे के बीच उत्पादन शुरू हो जाएगा।
के. विजयेन्द्र पाण्डियन, डीएम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here