● *चीन ने बनाया कुत्रिम सूरज*

0
44

● *चीन ने बनाया कुत्रिम सूरज*
● *तकनीकी खोजों के मामले में विकसित देशों को छोड़ा पीछे*
*बीजिंगः* चीन ने तकनीक और नई खोजों के मामले में अमेरिका, रूस, जापान जैसे विकसित देशों को पीछे छोड़ दिया है। चीन ने अपने “कृत्रिम सूर्य” परमाणु संलयन रिएक्टर को सफलतापूर्वक संचालित कर दुनिया में दूसरे सूरज के दावे को सच कर दिखाया है। चीनी मीडिया ने अपनी इस सफलता को देश की महान परमाणु ऊर्जा अनुसंधान क्षमताओं में चिह्नित किया। HL-2M टोकामक रिएक्टर चीन का सबसे बड़ा और सबसे उन्नत परमाणु संलयन प्रायोगिक अनुसंधान उपकरण है और वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि यह उपकरण एक शक्तिशाली स्वच्छ ऊर्जा स्रोत को संभावित रूप से अनलॉक कर सकता है।
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चीन का नकली सूरज असली सूर्य की तुलना में लगभग दस गुना अधिक गर्म है।
यह “कृत्रिम सूर्य” चीन के सिचुआन प्रांत में स्थित है। यह गर्म प्लाज्मा को फ्यूज करने के लिए एक शक्तिशाली चुंबकीय क्षेत्र का उपयोग करता है।
बता दे कि चीन के वैज्ञानिकों ने स्वच्छ ऊर्जा पैदा करने के मकसद से इस कृत्रिम सूरज को बनाया है।
जहां असली सूरज का कोर करीब 1.50 करोड़ डिग्री सेल्सियस तक गरम होता है, वहीं चीन का यह नया सूरज 10 करोड़ डिग्री सेल्सियस तक की गरमी पैदा कर सकेगा।
यह सौर मंडल के मध्य में स्थित किसी तारे की तरह ही ऊर्जा का भंडार उपलब्ध कराएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here