ब्लू और पिंक लाइन पर एक बार फिर दौड़ी मेट्रो,

0
75


राजधानी दिल्ली में लगभग 171 दिनों बाद मेट्रो ब्लू और पिंक लाइन पर रफ्तार भरी. जिससे द्वारका सेक्टर-21 से नोएडा इलेक्ट्रॉनिक सिटी तक जाने वाले लोगों ने मेट्रो का एक बार फिर से लुत्फ उठाया. ब्लू लाइन मुख्य तौर पर दिल्ली और नोएडा को जोड़ती है. कोरोना काल से पहले जिस पर लाखों लोग रोजाना यात्रा करते थे. देशभर में कोरोना के संक्रमण को थामने के लिए लगे लॉकडाउन के बाद अब जीवन समान्य की और बढ़ रहा है.

डीएमआरसी ने बताया के ब्लू लाइन पर 66 ट्रेनें चलेंगी, जो लगभग 478 ट्रिप करेंगी. इन ट्रेनों के चलने का समय सुबह 7-11 और शाम 4-8 तक ही होगा. 7 सितंबर को लगभग 5 महीने बाद राजीव चौक से देशव्यापी लॉकडाउन के बाद दिल्ली मेट्रो ने रफ्तार पकड़ी थी. चरणबद्ध तरीके से दिल्ली में मेट्रो सामान्य यात्रा की ओर बढ़ेगी.

पीएम मोदी का दावा- गरीबों के लिए जितना काम पिछले 6 साल में हुआ है, उतना कभी नहीं हुआ
लेह-लद्दाख को देश से जोड़ने वाला नया एक्सेस जल्द बनकर होगा तैयार, चीन और पाकिस्तान की जद से दूर होगी ये सड़क
21 सितंबर से खुलेंगे स्कूल: गाइडलाइंस जारी, बच्चों को भेजने से पहले जान लें सभी नियम
Viral Video: पेड़ पर आराम कर रहे सांप को देखते ही नेवले ने झपट्टा मारा, जमकर हुई दोनों में लड़ाई
दिल्ली ट्रैफिक पुलिस अब मास्क न पहनने पर चालान नहीं काट सकेगी, स्पेशल टीम को दी गई जिम्मेदारी

पहले चरण के दौर में 7 सितंबर को येलो लाइन शुरू की गई, 9 सितंबर को ब्लू लाइन (द्वारका सेक्टर -21 से नोएडा इलेक्ट्रॉनिक्स और पिंक लाइन (मजलिस पार्क से शिव विहार) तक और पहले चरण के आखिरी दौर में याने 11 सितंबर को रेड (रिठाला से शहीद स्थल), ग्रीन लाइन (कीर्ति नगर से ब्रिगेडियर होशियार सिंह ), वायलेट (कश्मीरी गेट से राजा नहर सिंह ) की सेवा भी शुरू कर दी जाएगी.

ब्लू लाइन और पिंक लाइन पर यात्रा करने से पहले इन बातों का रखें ध्यान
दिल्ली मेट्रो की सभी सेवाओं को चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जाएगा. कोरोना काल से पहले तक यात्रियों को मेट्रो की सेवा सुबह से रात तक बिना रुके मिलती थी. लेकिन कोरोना के चलते मेट्रो की सेवा को अभी भी समान्य होने में काफी समय लगेगा. सामान्य होने के बाद भी कई सारे बदलाव रहेंगे. इन्ही में से एक बदलाव है समय का. अब मेट्रो सेवा समयबद्ध रहेगी. शुरुआती दौर में मेट्रो प्रशासन ने सुबह चार घंटे यानी 7 बजे से 11 बजे तक और शाम को चार घंटे 4 बजे से लेकर 8 बजे तक मेट्रो चलाने का फैसला लिया है.

12 सितंबर तक करना होगा इंतजार
मेट्रो की सभी सेवाओं को शुरू होने के लिए यात्रियों को 12 सितंबर का इंतजार करना होगा. क्योंकि मेट्रो की सेवाएं तीन चरणों में शुरू होगी. पहले चरण की शुरुआत राजीव मेट्रो के साथ 7 सितंबर से शुरू हो गई है, वहीं आज से ब्लू और पिंक लाइन भी पटरियों पर उतर गई.

11 सितंबर को मैजंटा लाइन (जनकपुरी वेस्ट से बोटैनिकल गार्डन) और ग्रे लाइन (द्वारका से नजफगढ़) पर यात्रियों को एक बार फिर मेट्रो पर सवार होने का मौका मिलेगा. तीसरे चरण में 12 सितंबर को एयरपोर्ट लाइन की सेवाएं भी शुरू कर दी जाएंगी.

टोकन का रखें खास ध्यान
अब आपको टोकन लेने वाली आदत को छोड़ना होगा, क्योंकि अब स्मार्ट कार्ड से ही आप मेट्रो की यात्रा कर पाएंगे. मेट्रो स्टेशन पर टोकन के लिए भीड़ जमा हो जाती थी जो कोरोना काल में खतरे से खाली नहीं है. इसलिए लोगों के बीच समाजिक दूरी बनाए रखने के लिए स्मार्ट कार्ड का प्रयोग करना आवश्यक है जिसे आप केवल डिजिटल माध्यम से रिचार्ज करवा पाएंगे

जिन लोगों के पास कार्ड नहीं है वो स्टेशन से ही कार्ड खरीद सकतें हैं लेकिन उन्हें इस बात का ध्यान रखना होगा के पेमेंट वो कैश में नहीं कर सकेंगे केवल डिजिटल माध्यम के जरिए ही उन्हें स्मार्ट कार्ड मिलेगा.

मास्क के बिना नो एंट्री
मास्क लगाना अनिवार्य है. कोरोना के बढ़ते हुए खतरे को देखते हुए बिना मास्क के किसी भी यात्री को यात्रा नहीं करने दिया जाएगा. अगर कोई घर पर मास्क भूल आता है तो उसे मास्क स्टेशन पर ही मिल जाएगा लेकिन उससे उस मास्क की कीमत ज्यादा चुकानी पड़ेगी.

साथ ही दो गज की दूरी का भी ध्यान रखें. दूरी के साथ मेट्रो की सेवा का लुत्फ लोग कई महीनों के बाद उठा पाएंगे. लेकिन दूरी बनाए रखना भी जरूरी है इसलिए जगह जगह पर समाजिक दूरी वाले स्टीकर आपको चिपके मिलेंगे. सैनिटाइजशन की प्रक्रिया से भी आपको और आपके समाना को गुजरना पड़ेगा. अगर किसी भी मेट्रो स्टेशन पर भीड़ नजर आई तो वहां पर मेट्रो को ना रोके जाने का फैसला भी लिया जा सकता है.

क्या आपका इलाका कंटेंमेंट जोन में आता है
मेट्रो में सफर करने से पहले ये देख लीजिए कि जहां की यात्रा आप कर रहें हैं कहीं वो कंटेंमेंट जोन में ना आता हो. मेट्रो किसी भी कंटेंमेंट जोन या रेड जोन में नहीं रुकेगी. इसलिए यात्रियों को पहले से जिस जगह की यात्रा वो कर रहें हैं उसके बारे में जानना पड़ेगा.

मेट्रो स्टेशन पर करना पड़ सकता है इंतजार
मेट्रो अब हर यात्रा के बाद सैनिटाइज होगी जिस वजह से मेट्रो के आने में भी पहले से ज्यादा समय लगेगा. कोरोना काल में मेट्रो के रुकने के समय में भी बदलाव किया गया है. अब हर एक स्टेशन में मेट्रो पहले से 10 सेकंड ज्यादा रुकेगी. मेट्रो के गेट खुलने की अवधि भी इसलिए बढ़ाई गई है ताकि भीड़ भाड़ का लोगों को सामना ना करना पड़े और उन्हें किसी तरह का खतरा ना हो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here